शारीरिक सम्बन्ध से मिलता है माइग्रेन की समस्या से छुटकारा

आजकल की दौड़भाग के कारण सिर दर्द होना आम बात है। अगर आप माइग्रेन की समस्या से पीड़ित है तो आप अब दवाइयों का सहारा लेना छोड़ दीजिये और इससे निजात पाने के लिए सेक्स कीजिये। सेक्स माइग्रेन की समस्या से निजात दिलाने में कारगर है।

रिसर्च में हुआ खुलासा:

जर्मन शोधकर्ताओं ने एक रिसर्च के मुताबिक, 60 फीसदी माइग्रेन से पीड़ित और 37 फीसदी सामान्य सिरदर्द से पीड़ित लोगों ने इस बात को माना है कि सेक्स करने के बाद उनको दर्द से रहत मिलती है।

इस सर्वे में 800 माइग्रेन से पीड़ित और 200 ऐसे लोगों को शामिल किया गया। सर्वे के दौरान बताया कि सेक्स करने के बाद उनको माइग्रेन से रहत मिली।

माइग्रेन या सिरदर्द के दौरान लोग सेक्स करने से कतराते हैं, जबकि सर्वे कहता है कि माइग्रेन और सिरदर्द में सेक्स करने से दर्द से पूरी तरह से निजात पाई जा सकती है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि सेक्स के दौरान एंडो‌‌र्फिन नामक हार्मोन निकलता है जो कि नैचुरल पेनकिलर है इससे सिर के दर्द को दूर करने में मदद मिलती है।

यौन सम्बन्ध: इसलिए कुछ महिलाएं रह जाती है चरम सुख से वंचित

शारीरिक सम्बन्ध पर महिला और पुरुष दोनों को बराबर का अधिकार हैं। पुरुष तो चरम सुख तक पहुंच जाते हैं, लेकिन महिलाएं इस सुख से वंचित रह जाती हैं। भारतीय महिलाओं की ज्यादातर मानसिकता बिस्तर पर अपने पार्टनर को खुश करना रहती है। इसलिए सेक्स के दौरान वह पुरुषों की बराबरी नही कर पाती हैं।
रोमांस: पार्टनर के साथ शॉवर लेने से मजबूत होता है रिश्ता
क्या हो सकते है इसके कारण

महिलाओं को अपने कामोत्तेजक अंगों के बारे में नहीं पता होता है, जिस वजह से वो अपने पार्टनर को आर्गेज्म तक पहुँचने के लिए गाइड नहीं कर पाती हैं।

क्या सही है आपका KISS करने का तरीका !!

महिलाओं का चेहरा बताता है उनकी शारीरिक सम्बन्ध बनाने की क्षमता

शारीरिक सम्बन्ध को लेकर होने वाली रिसर्च का कोई अंत नहीं है। हाल ही में एक रिसर्च में एक्सपर्ट्स ने दावा किया है कि लोगों कि पर्सनलिटी उनके सेक्स पॉवर के बारे में बताती हैं।

शर्लिन चोपड़ा ने सबके सामने कपडे उतारकर दी श्रद्धांजलि, देखें Photos

कनाडा यूनिवर्सिटी में हुए इस रिसर्च के अनुसार, जिन पुरूषों का चेहरा चौड़ा और स्क्वॉयर शेप में होता है उनकी सेक्स पॉवर गोल और तिकोने चेहरे वाले पुरुषों के मुकाबले बहुत अधिक होती है।

हॉट फोटोज से चर्चा में हैं मॉडल Demi Rose, देखें Photos

इन महिलाओं की सेक्स पॉवर होती है ज्यादा:
# जिन महिलाओं का चेहरा चौड़ा लेकिन छोटा होता है उनकी सेक्स ड्राइव भी बहुत स्ट्रांग होती हैं। शरीर में मौजूद टेस्टोस्टेरॉन सेक्स हार्मोन लोगों के सेक्सुअल एटीट्यूट और साइक्लोजी को प्रभावित करता है।

जानिए ,शारारिक संबंध बनाने के दौरान महिलाएं क्यों करती हैं आह-उफ

क्‍यों सेक्स करने के बाद पुरुषों को नींंद आने लगती हैं?

सेक्स के बाद नींद आने की समस्या बहुत आम बात है, क्योंकि सेक्‍स के बाद शरीर से कई हार्मोन्‍स और केमिकल बाहर निकल जाते है जिस वजह से शरीर को बहुत आराम मिलता है। हालांकि, यह समस्या न केवल पुरुषों के साथ होती हैं, बल्कि महिलाएं भी सेक्स के बाद नींद जैसा महसूस करती हैं। लेकिन, यह भी सच है कि पुरुष महिलाओं की तुलना में सेक्स के बाद जल्दी सो जातें हैं।

एक शोध में यह बातें सामने आई हैं कि क्यों आख़िरकार लोगों को सेक्स के बाद नींद आती हैं, आइए जानते है।

जानिए सेक्स करने के बाद शरीर में होते है चमत्कारी बदलाव?

हार्मोन का प्रभाव – शोध में यह पाया गया कि सेक्स के बाद खासकर पुरुषों को अधिक नींद आती है। क्‍योंकि सेक्‍स के बाद शरीर से ऑक्सिटोसिन हॉर्मोन और प्रोलेक्टिन हार्मोन का स्‍त्राव होता है। हालांकि, सेक्स के दौरान यह हार्मोन महिलाओं की अपेक्षा पुरूषों के शरीर में अधिक सक्रिय हो जाते हैं, जिससे कि नींद आने लगती है। साथ ही, महिलाओं में भी संभोग करने के दौरान शरीर के हार्मोन्स तेजी से बदलते हैं, जिस कारण उन्हें भी सुस्ती आती हैं।

इन अंगों को छूने से महिलाएं हो जाती हैं उत्‍तेजित

जानिए सेक्स करने के बाद शरीर में होते है चमत्कारी बदलाव?

सेक्‍स न सिर्फ एक मनोरंजन क्रिया है बल्कि उससे बढ़कर हैं एक रोमांचक अहसास हैं। अगर आपको सेक्‍स के बाद बेहतर ऑर्गेज्‍म मिल जाएं तो कहने ही क्‍या? सेक्‍स के दौरान आप जो भी शारीरिक एक्टिविटी करते हैं उसका सीधा असर आपके शरीर पर पड़ता हैं। देखा जाएं तो सेक्‍स भी एक तरह का गहन वर्कआउट हैं।

इन अंगों को छूने से महिलाएं हो जाती हैं उत्‍तेजित

लेकिन शायद ही आपको पता हो कि पहली बार सेक्स के बाद लड़कियों के शरीर में क्या बदलाव आते है, तो आइए आज हम आपको बताते है कि पहली बार सेक्स करने के बाद महिलाओं के शरीर में क्या बदलाव होते है। पहली बार शारीरिक संबंध बनाने के बाद महिलाओं के शरीर में कई बड़े बदलाव होते हैं। ऐसा हार्मोनल बदलावों की वजह से होता है।

 क्या महिलाओं को भी होता है स्वप्न दोष?

पीरियड्स में बदलाव – इंटरकोर्स के बाद मासिक धर्म अनियमित हो सकता है। इसकी वजह भी हार्मोन्‍स में हुआ बदलाव ही है। लेकिन अगर पीरियड्स के डेट में ज्यादा देरी हो तो ये प्रेग्नेंसी का इशारा भी हो सकता है।

जानिएं क्‍यूं, बेड पर परफॉर्म नहीं कर पाते है आदमी?