शारीरिक सम्बन्ध से मिलता है माइग्रेन की समस्या से छुटकारा

आजकल की दौड़भाग के कारण सिर दर्द होना आम बात है। अगर आप माइग्रेन की समस्या से पीड़ित है तो आप अब दवाइयों का सहारा लेना छोड़ दीजिये और इससे निजात पाने के लिए सेक्स कीजिये। सेक्स माइग्रेन की समस्या से निजात दिलाने में कारगर है।

रिसर्च में हुआ खुलासा:

जर्मन शोधकर्ताओं ने एक रिसर्च के मुताबिक, 60 फीसदी माइग्रेन से पीड़ित और 37 फीसदी सामान्य सिरदर्द से पीड़ित लोगों ने इस बात को माना है कि सेक्स करने के बाद उनको दर्द से रहत मिलती है।

इस सर्वे में 800 माइग्रेन से पीड़ित और 200 ऐसे लोगों को शामिल किया गया। सर्वे के दौरान बताया कि सेक्स करने के बाद उनको माइग्रेन से रहत मिली।

माइग्रेन या सिरदर्द के दौरान लोग सेक्स करने से कतराते हैं, जबकि सर्वे कहता है कि माइग्रेन और सिरदर्द में सेक्स करने से दर्द से पूरी तरह से निजात पाई जा सकती है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि सेक्स के दौरान एंडो‌‌र्फिन नामक हार्मोन निकलता है जो कि नैचुरल पेनकिलर है इससे सिर के दर्द को दूर करने में मदद मिलती है।

छरछरी बदन के लिए करें इन चीजो का सेवन

बढ़ते वज़न से परेशान लोग इस पर काबू पाने के लिये जिम, योग और विशेष प्रकार की सेवन को भी अपनाते हैं। इनमें से ज़्यादातर तरीक़े कारगर साबित हो भी जाते हैं लेकिन शायद आपको ये नहीं मालूम होगा कि कुछ खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल कर आसानी से फैट यानी चर्बी को कम कर सकते हैं।

स्वस्थ रहने के लिए रोजाना कुछ कदम चले 

अगर आप चुस्त-दुरुस्त रहने चाहते है तो फिर कुछ देर के लिए चहलकदमी कीजिए। इससे आप न केवल स्वस्थ रहेंगे, बल्कि आपकी उम्र भी लंबी रहेगी। अमेरिका की एक यूनिवर्सिटी में किए गए शोध के लेखक एजरा फिशमैन के अनुसार, लंबी उम्र के लिए अधिक समय तक पसीना बहाना जरूरी नहीं है। फिशमैन ने कहा कि केवल धारदार गतिविधियां ही फायदेमंद नहीं होतीं। यह एक सार्वजनिक संदेश है जो हम देना चाहते हैं।

 स्पर्म क्वॉलिटी में चाहते है सुधार तो खाएं ये फल

अनार एक ऐसा फल है जो न सिर्फ अक्सर महंगा रहता है बल्कि इससे जुड़ी एक आफत इसे छीलने की भी रहती है. इसी चक्कर में लोग अक्सर इससे दूरी बनाने का काम करते हैं | लेकिन एक अनार सौ बीमारों को ठीक करने की ताकत रखता है |

विटामिन ए की कमी से टीबी का खतरा

तपेदिक (टीबी) से बीमार लोगों के साथ रहने वाले विटामिन ए के निम्न स्तर वालों में पोषक तत्वों के उच्चस्तर वालों की तुलना में टीबी का खतरा 10 गुना अधिक होता है। एक शोध के निष्कर्षों में कहा गया है कि विमामिन ए की खुराक टीबी के प्रसार को रोकने में महत्वपूर्ण होता है। टीबी दुनिया भर में मौत के एक प्रमुख कारणों में से है।

अमेरिका के बोस्टन में हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के प्रोफेसर व वरिष्ठ लेखक मेगन मरे ने कहा, “यदि विटामिन ए की पूरक आहार के तौर पर नैदानिक परीक्षण में संबंध की पुष्टि की गई है, तो यह टीबी के अधिक जोखिम वालों में यह टीबी रोकने में अत्यधिक सहायक होगा।”

इस शोध के निष्कर्षो का प्रकाशन पत्रिका ‘क्लिनिकल इंफेक्शियस डिजीजेज’ में हुआ है। यह निष्कर्ष पेरू के लीमा में 6000 से ज्यादा घरों से लिए गए लोगों के रक्त नमूनों के विश्लेषण पर आधारित है।

शोधकर्ता ने कहा कि जोखिम में 10 गुना वृद्धि आश्चर्यजनक है।

साल 2015 में टीबी से 18 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। टीबी कम और मध्यम आय वाले देशों में सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाती है, जहां विटामिन ए की कमी जनसंख्या के 30 फीसदी से ज्यादा को प्रभावित कर सकती है।

जानिये कैसे मुहांसों से बचाए अपने चेहरे को !

नई दिल्ली | चेहरे को सही से न धुलना व साफ न करना और अधिक मात्रा में तेल, दूध, घी आदि के सेवन से आपके चेहरे पर मुहांसे निकल सकते हैं। अश्योर क्लीनिक के कॉस्मेटोलॉजिस्ट अभिषेक पिलानी ने मुहांसे होने के लिए जिम्मेदार कारणों के बारे में बताया है |

1 – अगर आप अपना चेहरा सही से नहीं धुलती हैं या साफ नहीं करती हैं तो आपके चेहरे पर मुहांसे निकल सकते हैं, इसलिए रोजाना दो बार सौम्य फेसवॉश से अपना चेहरा धुलें।